Star Bseb

हमारे WhatsApp Group में जुड़ें  👉

Star Bseb

WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Join Telegram group Join Now

Rahul Gandhi In Bihar Update: Rahul Gandhi In Bihar राहुल ने पूर्णि‍या में चौपाल लगाकर सुनी किसानों की व्यथा अडानी का नाम लेकर केंद्र को घेरा। 

Rahul Gandhi In Bihar Update: Rahul Gandhi In Bihar राहुल ने पूर्णि‍या में चौपाल लगाकर सुनी किसानों की व्यथा अडानी का नाम लेकर केंद्र को घेरा। 

Rahul Gandhi In Bihar Update:

भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान अररिया की ओर से पूर्णिया पहुंचने के दौरान एनएच 57 स्थित पूर्णिया पूर्व प्रखंड के सिकंदरपुर गांव में मंगलवार को किसान चौपाल में पहुंचकर वहां के किसानों की व्यथा सुनी। उन्हें देखने के लिए हजारों की संख्या में महिलाएं और पुरुष घंटों से इंतजार कर रहे थे। जैसे ही राहुल गांधी किसान चौपाल में पहुंचे लोग उसे देखने के लिए आतुर दिखे।

प्रशांत कुमार सोनू, पूर्णिया पूर्व (पूर्णिया)। भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान अररिया की ओर से पूर्णिया पहुंचने के दौरान एनएच 57 स्थित पूर्णिया पूर्व प्रखंड के सिकंदरपुर गांव में मंगलवार को किसान चौपाल में पहुंचकर वहां के किसानों की व्यथा सुनी। उन्हें देखने के लिए हजारों की संख्या में महिलाएं और पुरुष घंटों से इंतजार कर रहे थे।

जैसे ही राहुल गांधी किसान चौपाल में पहुंचे लोग उसे देखने के लिए आतुर दिखे। चौपाल में राहुल गांधी ने आलू की सब्जी और रोटी खाई। वहीं, कुल्हड़ में चाय का भी आनंद लिया।

ये भी पढ़ें:- https://shikshaseva.in/bihar-police-recruitment-2023/

सर्वप्रथम किसान नेता अनिरुद्ध मेहता ने राहुल गांधी को मक्के का पौधा देकर सम्मानित किया। वहीं, उन्होंने राहुल गांधी से वार्तालाप करने के दौरान कहा कि जो किसान अन्नदाता है, आज उन्हीं किसानों को सरकार नहीं देख रही है। यहां मक्के की एमएसपी के दरों में खरीद नहीं होने से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है, जबकि यह इलाका मक्के की खेती के लिए जाना जाता है। साथ ही उन्होंने कई किसानों से जुड़ी समस्याओं को भी रखा।

Rahul Gandhi In Bihar Overview

Name of the Article  Rahul Gandhi In Bihar Update
Type of the Article  पूर्णि‍या में चौपाल लगाकर सुनी किसानों की व्यथा
OFFICIAL WEBSITE Star Gurukul 
Detailed Information  Please Read The Article Completely

धान बुआई वाले किसान ने बयां कि‍या दर्द :

किसान चुन्नी लाल उरांव ने कहा कि हम लोग ज्यादातर धान की खेती करते हैं। जब बाढ़ की समस्या आती है तो हम लोगों की धान की फसल पूरी तरह बर्बाद हो जाती है, जिसका मुआवजा की बात अगर हम लोग करते हैं तो हम लोगों को यह कह कर टाल दिया जाता है कि ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जिससे हम किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है।

वहीं किसानों ने यह भी आवाज उठाई की एसएसबी के द्वारा वर्षों पूर्व जमीन अधिग्रहण किया गया था लेकिन अब तक उस पर कोई भी कार्य नहीं किया गया है ना ही किसानों को वह जमीन वापस कर रही है, ऐसे में वह जमीन भी खाली पड़ा बर्बाद हो रहा है। अगर वह जमीन हम लोगों को फिर से वापस मिल जाए तो उससे कई परिवार के आजीविका चल सकती है।

जमीन अधिग्रहण बिल का मुद्दा सदन में उठाऊंगा: 

राहुल गांधी ने उपस्थित किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि कोई भी राजनेता जब भी किसानों और जमीन की बात करेगा तो उस पर 24 घंटा में मीडिया का आक्रमण हो जाएगा। यहां पर कानून के मुताबिक अगर यह जमीन 5 साल के अंदर इस्तेमाल नहीं की गई तो आपको वापस मिल जानी चाहिए।

यह कानून है मगर यहां पर हिंदुस्तान की सरकार ने जमीन अधिग्रहण बिल के कानून को तोड़ दिया और मैं इसकी आवाज पार्लियामेंट में उठाऊंगा। मैं यह गारंटी नहीं दे सकता कि यह जमीन वापस दिलवा दूंगा लेकिन आवाज तो उठा ही सकता हूं, लेकिन अगर हमारी सरकार आई तो यह काम सबसे पहले होगा।

किसानों को चारों ओर से घेरा जा रहा है। आपकी जमीन छीनी जा रही है आपसे जमीन ली जाती है अडानी जैसे बड़े-बड़े उद्योगपतियों को फ्री में तोहफे जैसे गिफ्ट में दी जाती है। दूसरी तरफ से खाद, बीज इन चीजों में आपसे आप पर दवाब डाला जाता है, आपसे पैसा छीना जाता है और फिर नरेंद्र मोदी ने ही सबसे बड़ा काम करने की कोशिश की है।

विजय माल्‍या, अडानी का नाम लेकर केंद्र को घेरा:

तीन काले कानून ले आए और जो आपका था आपके नाक के सामने से उसको छीनने की कोशिश की है, अच्छी बात है देश के सारे के सारे किसान खड़े हो गए और वह पीछे नहीं हटे इसलिए आपकी जान बच गई, नहीं तो आप सब बर्बाद हो जाते।

मेरी सोच है कि‍ किसान देश के रीढ़ की हड्डी है। हिंदुस्तान की सरकार अरबपतियों के 14 लाख रुपए कर्ज माफ कर सकती है, माल्या के रुपए माफ हो गए अडानी के माफ हो गए इन सब का हो सकता है, मगर किसानों का कर्ज माफ नहीं हो सकता है आपने क्या गलती की है।

ये भी पढ़ें:- https://stargurukul.com/bihar-ssc-inter-level-exam-syllabus-update/

अगर किसान का कर्ज माफ नहीं करना है तो फिर उनका भी नहीं होना चाहिए। यह अन्याय क्यों हो रहा है। उनका 14 लाख करोड़ माफ हो रहा है और जब आप माफी के बारे में कहते हैं तो सरकार आपसे कहती है कि आपका नहीं करेंगे। अगर उनका हो रहा है तो इनका भी हो।

राहुल ने ‘न्‍याय योजना’ का किया ज‍ि‍क्र:

किसानों के साथ न्याय होना चाहिए। मेरी सोच है कि हिंदुस्तान के हर नागरिक को कम से कम प्रोटेक्शन होना चाहिए। पिछले चुनाव में मैंने एक योजना लाई थी, न्याय योजना, जिसमें हमने कहा था हर गरीब व्यक्ति के बैंक अकाउंट में चाहे वह मजदूर हो, किसान हो, हर परिवार के बैंक में अकाउंट में सरकार कम से कम पैसा डालेगी।

अगर किसानों को यह नहीं लगेगा कि देश की सरकार हमारी रक्षा कर रही है तो आज किसान आगे नहीं बढ़ सकता है और देश भी आगे नहीं बढ़ सकता है। आज किसान के दिल में जो डर है उसे सरकार मिटा नहीं पा रही है और किसान ने सरकार पर पूरा का पूरा भरोसा खो दिया है।

मगर मैं यहां आपको यह कहने आया हूं हमारी कोशिश रहेगी जो आपका भरोसा खोया हैं, वह एक बार फिर आपको देंगे। जमीन अधिग्रहण बिल हम लाए थे। छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार थी, राजस्थान में हमारी सरकार थी तो हम किसानों को सही हक देते थे। हमने काम करके दिखाया है और आने वाले समय में भी काम करके दिखाएंगे।

वहीं उन्होंने कहा कि देश में जब हमारी सरकार थी तो हम लोगों ने किसानों के 75 हजार करोड़ ऋण की माफ की थी। वहीं उन्होंने उपस्थित किसानों को भरोसा दिलाया कि अगर हमारी सरकार आती है तो सबसे पहले आपको यह एसएसबी की जमीन वापस दिलवाने का काम करूंगा।

इस मौके पर उनके साथ प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश प्रसाद सिंह, कांग्रेस नेता जयराम रमेश, कन्हैया कुमार तथा पूर्णिया जिला अध्यक्ष नीरज सिंह उर्फ छोटू सिंह सहित दर्जनों कांग्रेस नेता उपस्थित थे।

Some important link

Joining  my WhatsApp Click Here 
Joining my telegram Click Here 
SHIKSHASEWA Click Here 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!